देशबिहारभूमिहारराजनीति

आप की अदालत में चर्चित सवर्ण नेता तथा राजपा सुप्रिमों आशुतोष कुमार को बुलाने की उठी मांग, जानें – बोलता है बिहार

आप की अदालत में आशुतोष कुमार: रजत शर्मा द्वारा संचालित लोकप्रिय टीवी शो आप की अदालत (Aap Ki Adalat) फिर से शुरू होने वाली है। आपको बताएं आप की अदालत देश में कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने के बाद तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया था। वहीं आप का अदालत की प्रथम एपिसोड 13 मार्च 1992 को चलाया गया था।

क्या है आप की अदालत?

आप की अदालत एक समाचार प्रस्तुतकर्ता है जिसमें विभिन्न प्रसिद्ध व्यक्तियों को आमंत्रित करके उन्हें बुलाया जाता है और उनके काम, जीवन और उपलब्धियों पर उनसे बातचीत की जाती है। इसके साथ ही, वर्तमान राजनीतिक मुद्दों पर उनसे चर्चा की जाती है। आप की अदालत लोकप्रिय न्यूज़ एंकर रजत शर्मा द्वारा संचालित की जाती है तथा इसे इंडिया टीवी नामक चैनेल से प्रस्तुत की जाती है।

आप की अदालत

आप की अदालत का थीम असल अदालत के तरह हीं है जिसमें वकील, जज और कटघरा होता है। कटघरे में बैठाकर चयनित व्यक्ति से सवाल पुछे जाते हैं तथा उन्हें उसका ईमानदारी से जबाब देना होता है। इसमें उपस्थित दर्शकों का भी सवाल का जबाब देना पड़ता है। फिर अंत में असल फैसला जज सुनाते हैं।

रजत शर्मा ने अपने फेसबुक के माध्यम से आप की अदालत का फिर से खुलने (Aap Ki Adalat Reopening) का सूचना दिये। उन्होंने वीडियो संदेश के माध्यम से कहा देश में बढ़ते कोरोना वायरस के केस के कारण दर्शक को नहीं बुला पाते और दर्शक के बिना वो शो करना नहीं चाहते थे, इसीलिए आप की अदालत बंद थी। उन्होंने कहा अब वक़्त आ गया है और फिर से वो आप की अदालत की कार्यवाई शुरू करेंगे।

उन्होंने वीडियो संदेश के मध्यम से लोगों से आप की अदालत में किसे देखना चाहते हैं इसका सुझाव माँगा। उन्होंने गूगल फॉर्म के माध्यम से लोगों से उनकी राय बताने को कहा। साथ हीं उन्होंने एक WhatsApp नंबर 9350593505 जारी करते हुए लोगों से उनकी सुझाव उस नंबर पर भेजने के लिए अपील किया। उन्होंने #AapKiAdalatIsBack नामक हस्टैंड का भी प्रयोग किया।

आप भी अपना विचार भेजें

 WhatsApp क्लिक करें
Google Form क्लिक करें 

आप की अदालत में आशुतोष कुमार
(Ashutosh Kumar In Aap Ki Adalat)

सोशल मीडिया पर रजत शर्मा का जारी वीडियो संदेश सुनते हीं लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया देना शुरू किया। उनके फेसबुक पर लोगों के द्वारा की गयी टिप्पणियां के अनुसार अधिकतर लोग आशुतोष कुमार (Ashutosh Kumar RJJP) का जिकृ करते नज़र आये। अधिकतर टिप्पणियों पर नजर देने के बाद पता चला की ये आशुतोष कुमार चर्चित सवर्ण नेता तथा राष्ट्रीय जन जन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।

फेसबुक और ट्विट्टर पर लोगों में आशुतोष कुमार की लोकप्रियता दिखी। अधिकतर कॉमेंट में लोग उनके कड़ी संघर्ष की चर्चा करते दिखे। इस खबर में हम आपके सामने लोगों द्वारा पोस्ट की गयी कुछ टिप्पणियां प्रस्तुत करते हैं। कई लोग सोशल मीडिया पर #AshutoshKumarOnAapKiAdalat हस्टैग का भी प्रयोग कर रजत शर्मा के समक्ष अपना पहली पसंद जाहिर किया। कईयों ने योगी आदित्यनाथ, पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ, नुपूर शर्मा, भगवंत मान , नरेंद्र मोदी तो कई राहुल गांधी के नाम का भी जिकृ किया। लेकिन आशुतोष कुमार सबपर भाड़ी दिखे।

आप की अदालत में आशुतोष कुमार (Ashutosh Kumar In Aap Ki Adalat)

एक उज्ज्वल कुमार सिंह नामक युवक लिखते हैं:

आशुतोष कुमार को बुलाया जाय।

देश में सवर्णों के हक़ की मजबूती से बात करने वाले , लाखों लोगों के चहेते, राष्ट्रीय जन जन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, देश के सबसे बुद्धिजीवी तथा संसाधन के खजाने वाले जाती जिन्हीने देश के कल्याण के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर किया अर्थात भूमिहार – ब्राह्मण के साथ साथ सवर्णों की हक़ की लराई लड़ने के लिए भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच का स्थापना करने वाले आशुतोष कुमार को आप की अदालत में बुलाया जाय।

आपको याद दिलाऊँ गरीब तथा लाचार सवर्णों के शैक्षिक उत्थान के लिए दिये जाने वाले 10% EWS Reservation के फैसले आने तक कड़ी संघर्ष करने वाले आशुतोष कुमार हीं थे। 10% आरक्षण का लालीपॉप थमाने के बाद सरकार से लगातार सवर्णों की उम्र सीमा में छुट की लराई भी आशुतोष कुमार के द्वारा मजबूती से लड़ी जा रही है।

बिहार में कुशासन की सरकार द्वारा आये दिन एक खास वर्ग भूमिहार को प्रतारित किया जा रहा है। लगातार भूमिहार के रत्न माने जाने वाले समाज के प्रष्ठित लोगों को जान बूझकर ख़तम किया जा रहा है। इस कुकृत्य के खिलाफ भी आशुतोष कुमार सबसे बड़ा लराई लड़ रहे हैं। आशुतोष कुमार एकलौता भूमिहारों के हक़ की लराई लड़ने वाले नेता हैं।

मैं रजत शर्मा जी आपसे हाथ जोड़कर विनम्र निवेदन करता हूँ एक बार जितनी जल्दी हो सके आशुतोष कुमार को आप की आदलत के कटघरे में खडा की जाय।

उस एपिसोड का हम लाखों सवर्ण युवाओं को बेसब्री से इंतजार है। हम इंतजार में हैं…. 🙏

तो वहीं सीपु कुमार का मनाना है की:

सवर्णों का आवाज, मात्र एक ही मसीहा , एक ही नेता जो खुले मंच से सवर्णों की बात करते हैं और देश में उभरते नये चेहरे श्री आशुतोष कुमार को एक बार अपने अदालत में बुलाया जाए हमें आप हर पुर्ण विश्वास है कि आप जरुर बुलाएंगे आपका सदा आभारी रहूंगा। 

वहीं चंदन भूमिहार नामक यूजर लिखते हैं:

हम युवाओं के हिम्मत है आशुतोष कुमार। बिहार सरकार को एक अकेले शख्स ने हिला रखा वो हैं आशुतोष जी। बदलो बिहार नामक क्रांति चलाकर आशुतोष जी नये विकसित तथा शिक्षित बिहार की कल्पना को साकार करने की दिशा में काम कर रहें हैं। राष्ट्रीय जन जन पार्टी बिहार में बनाई वो भी घोर लॉकडॉन के समय मगर वो पार्टी चर्चित सिर्फ बिहार में नहीं बल्कि झारखंड, उत्तर, प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, बंगाल, गुजरात में जन जन के कानों तक पोहुची आने वाला दिनों में।

भैग्रथ गुर्जर का मानना है की:

गाँव के गरीब किसान को बुलाइये जो अपनी वास्तविक स्थिति को आपके एपिसोड के माध्यम से शासन तक पहुँचा सके!
सामान्य इंसान को जीवन जीने में किन किन सुगमता औऱ दुर्गमता का सामना करना पड़ता है, सच्चाई को पटल पर रखने दो।

सुधांशु शर्मा मजाकिया अंदाज में टिप्पणी करते हुए लिखा:

ललित मोदी को आप की अदालत मैं बुलाया जाए और उससे पूछा जाए कि उसने ये किया तो किया कैसे 🤪

मिलाजुलकर सबसे ज्यादा लोगों ने आशुतोष कुमार के पक्ष में दिखे। वॉइस ऑफ भूमिहार (Voice Of Bhumihar) नामक WhatsApp ग्रुप में भी अधिकतर ग्रुप सदस्य ने आशुतोष कुमार का हीं नाम का उल्लेख किया। ग्रुप में लोगों ने रजत शर्मा को भेजे गए WhatsApp मेसेज व गूगल फॉर्म का स्क्रीनशॉट साझा करते हुए लगातार दिखे।

अब तक 6 ब्राह्मण, 2 दलित और 1 कायस्थ बन चुके हैं राष्ट्रपति, 3 मुस्लिम और 1 महिला को भी मिल चुका है मौका, जानें आखिर क्यों पीछे हैं भूमिहार

Related Articles

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button